३सरा अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवार्ड – १६ जुलाई को लन्दन में

३सरा अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवार्ड – १६ जुलाई को लन्दन में

३सरा अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवार्ड १६ जुलाई को लन्दन के इंडिगो सभागार में होने जा रहा हैं. यशी फिल्म द्वारा लन्दन में १६ जुलाई २०१७ को इंटरनेशनल भोजपुरी फिल्म अवार्ड (IBFA 2017) का आयोजन किया जा रहा हैं। जिसमें भोजपुरी और हिन्दी के फिल्मी हस्तियाॅ शानदार रंगा-रंग कार्यक्रम पेश करेगी। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के कलाकार में मनोज तिवारी, रवि किशन, दिनेश लाल निरूहुआ, पवन सिंह, खेसारी लाल यादव, आम्रपाली दुबे, सहित सभी फिल्मी इंदूसरी के…

Read More

नारीसक्ति, संघर्ष और सफलता की मिशाल ‘लीला सिन्हा’

नारीसक्ति, संघर्ष और सफलता की मिशाल ‘लीला सिन्हा’

जन्म के साथ ही मैं माँ बाप के लिए एक श्राप बन गयी थी। क्योकि हम चार बहने है जिसमे मैं सबसे छोटी हूँ। मेरे साथ मेरा एक भाई जो की पैदा होते ही मर गया था और मैं जिंदा पैदा हुई, इसलिए सबको लगता है कि मंै पैदा होते ही अपने भाई को खा गयी, पर इसमे मेरा कसूर क्या था? जब मै थोड़ी बड़ी हुई तो पहली बार गाँव आयी, जो रोहतास जिला…

Read More

जनगणना में सभी भाषाओ के बॉक्स क्यों नहीं?

जनगणना में सभी भाषाओ के बॉक्स क्यों नहीं?

पंकज जैसवाल@भोजपुरीपंचायत.in – जबसे मैंने अपना बोधकाल शुरू किया तबसे भोजपुरी और हिंदी दोनों को एक साथ जीता रहा हूँ। प्रायः घर पे, मोहल्ले में और समाज में भोजपुरी ही बोलता चला आता था और स्कूल एवं अन्य माहौल में खड़ी बोली बोलता तंग। अवचेतन में यह बात बैठ गई थी की औपचारिक माहौल में हिंदी में संवाद करना है और अनौपचारिक में तो भोजपुरी स्वतः स्फूर्त निकलती है। आज जब कोई हिंदी बनाम भोजपुरी बोल…

Read More

वित्त मंत्रालय ने बदला सीबीईसी का नाम, बदलकर किया सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम्स

वित्त मंत्रालय ने बदला सीबीईसी का नाम, बदलकर किया सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम्स

नई दिल्ली: अप्रत्यक्ष कर की सर्वोच्च पॉलिसी मेकिंग बॉडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्साइज एंड कस्टम (सीबीईसी) का नाम बदलकर सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम्स (सीबीआईसी) किया जा रहा है। वित्त मंत्रालय ने अपनी एक स्टेटमेंट में बताया कि वैधानिक मंजूरी लेने के बाद सीबीईसी का नाम बदलकर सीबीआईसी किया जा रहा है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम्स (सीबीआईसी) सेंट्रल एक्साइज लेवी और कस्टम्स के कामकाज तो जारी रखेगा ही इसके अलावा…

Read More

डीडीसीए मानहानि ममिला

डीडीसीए मानहानि ममिला

डीडीसीए मानहानि ममिला में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के अवुरी नेता के खिलाफ आज पटियाला हाउस कोर्ट आरोप तय क दिहलस। ए ममिला में अरविंद केजरीवाल आ अवुरी आरोपी अपना ऊपर लागल आरोप के खंडन कइले अवुरी ए मामला में ट्रायल के मांग कइले। अदालत ए मामला में अगिला सुनवाई 20 मई के करी। मालूम रहे कि, अरविंद केजरीवाल अरुण जेटली प दिल्ली अवुरी जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) में भ्रष्टाचार…

Read More

निनानबे के चक्कर

निनानबे के चक्कर

निनानबे के चक्कर। सुनले बानी की ना? अरे जरूर सुनले होखबि। सुनलहीं होखबि। सुनलहीं का, रउओं कहत होखबि की फलनवा निनानबे की चक्कर में पड़ी गइल बा। अउरी हाँ जे पड़ी गइल ए निनानवे की चक्कर में ओकर भूखी-पियासी मरी जाला। आराम ओकरा के हराम लागेला अउरी सुतले के उ बेमारी समझेला। अरे एतने ना, दिन-रात, साँझि-बिहान बस निनाबे के सव बनवले में लागल रहेला। इहां सव के मतलब सौ से बा, सव (मिरतक) से…

Read More

आरक्षण एक अभिशाप

आरक्षण एक अभिशाप

डाॅ. संजय सिन्हा@bhojpuripanchayat.in आरक्षण उस प्रक्रिया का नाम है जिसमे भारत की सरकार द्वारा सरकारी संस्थानोँ मेँ कुछ पिछड़ी जातियो के लिए सीटेँ रोक ली जाती है।अर्थात उस स्थान पर केवल एक विशेष जाति का व्यक्ति ही काम कर सकता है।यह विशेष जातियाँ वह वर्ग है जिन्हे प्राचीन भारत मेँ निचली जाती का दर्जा दिया जाता था, और इन लोगो को उच्च वर्ग के नीचे उनके आदेशो पर ही जीवन बसर करना पड़ता था। जिस…

Read More

माॅरीसियन भोजपुरी लोककथाओं पर जापान के विश्वविद्यालय में शोध कार्य

माॅरीसियन भोजपुरी लोककथाओं पर जापान के विश्वविद्यालय में शोध कार्य

महात्मा गांधी संस्थान मारिशस के भोजपुरी लोक संस्कृति विभाग, भोजपुरी संस्कृति और साहित्य को जापान में ला रहा है. विभाग के अध्यश्क श्री अरविन्द बिसेसर के संचालन में जापान के प्रो. ओदा और डाॅक्टर सेइको जापान में माॅरिशस की भोजपुरी लोक कथाओं का एक अप्रकाशित संग्रह अंग्रेजी के साथ जापानी में अनुवाद करके प्रकाशित करने वाले हैं. अरविन्द बिसेसर अपने शोध कार्य के लिए भोजपुरी लोक कथाओं का संकलन कर रहे हैं. माॅरिशस एवं इंग्लैंड…

Read More

‘एक रजाई तीन लुगाई’ घटिया सोच की उपज

‘एक रजाई तीन लुगाई’ घटिया सोच की उपज

भोजपुरी फिल्म ‘एक रजाई तीन लुगाई’ कुछ लोगों की खटिया सोच को उजागर करती है। फिल्म तो अभी तकदेखने को मिली नहीं है, पर फिल्म का टाइटल जब इतना खटिया रखा गया है तो इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि फिल्म कैसी होगी? यह तो भोजपुरी संस्कृति को बदनाम करने की एक बड़ी सोच लगती है। दुःख तो तब और बढ़ गया जब पता चला फिल्म की निर्मात्री एक महिला ही यानी एकता…

Read More

भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची की ओर : मनोज तिवारी

भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची की ओर : मनोज तिवारी

नई दिल्‍ली: इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने के साथ ही भोजपुरी साहित्य और आंदोलन के मुद्दे पर खूब जोरदार चर्चा हुई । सांसद और दिल्‍ली भाजपा के अध्‍यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि सरकार ने भोजपुरी को संवैधानिक मान्‍यता देने का मन पूरी तरह से बना लिया है और संसद के अगले सत्र में भोजपुरी की संवैधानिक मान्‍यता संबंधी बिल के संसद में पेश होने की पूरी…

Read More
1 2 3 4