त्यौहार और परिवार

त्यौहार और परिवार

अपना देश त्योहारों का देश है । यहाँ जितनी जन जातियां है उनसे ज्यादा त्यौहार मनाये जाते है । पर जहाँ तक मैं समझी हूँ त्यौहार अपने देवी देवताओं के काल से चले आ रहे हैं । या उनसे सम्बंधित कोई लीला पर निर्भर है हर त्यौहार । या किसी महान सन्त के जन्मदिन को एक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है । कबीले वालों की अपनी सोच अपनी धारणायें होती है । कुदरत…

Read More