कूड़े के ढेर पर दिल्ली

कूड़े के ढेर पर दिल्ली

याद है न वह दिन, जब दिल्लीवालों ने झाड़ू का सहारा लिया और कांग्रेस, भाजपा आदि को झाड़ू दिखाकर बहरियाते हुए घर-घर में झाड़ू को पनाह दिया। घर-घर झाड़ू का बोलबाला था, हर जगह झाड़ू ही झाड़ू दिखा और केजरीवाल ऐसे झाड़ूमैन के रूप में उभरे कि दिल्ली को सरलता से हथिया लिए। कहते हैं कि झाड़ू सफाई का प्रतीक है, जहाँ झाड़ू है वहाँ सफाई है पर यह बात अब सत्य साबित होती नहीं…

Read More